AUTHOR

header ads

Defence Minister reply on ECHS problem

भूतपूर्व सैनिकों को हो रही ECHS में परेशानी पर रक्षा मंत्री ने दिया जवाब



भूतपूर्व सैनिक जो कि ईसीएचएस कार्ड धारक हैं उनको हो रही ईसीएचएस में परेशानियों के संबंध में रक्षा मंत्री माननीय Rajnath Singh ने लोकसभा में सरकार का पक्ष रखा पूरा विवरण इस प्रकार से है -
Defence Minister reply on ECHS problem, ECHS,
ECHS
लोकसभा के अंदर भूतपूर्व सैनिक अंशदायी स्वास्थ्य योजना (ECHS) जो कि भूतपूर्व सैनिक कल्याण के लिए भारत सरकार द्वारा भूतपूर्व सैनिकों के लिए चलाई जा रही है, उसके संबंध में 17 जुलाई 2019 को प्रश्न संख्या 358 जिसे श्री मनोज राजोरिया द्वारा पूछा गया था जो कि इस प्रकार है -
1. उन्होंने पहला सवाल पूछा के भूतपूर्व सैनिक अंशदायी स्वास्थ्य योजना (ईसीएचएस) कब से चल रही है ?
2. उन्होंने लोकसभा में दूसरा सवाल यह पूछा कि उन भूतपूर्व सैनिकों की संख्या कितनी है जिन्होंने इस योजना की सुविधा ली है ?
3. उनके द्वारा तीसरा सवाल यह पूछा गया कि इस योजना के प्रचालन के बारे में भूतपूर्व सैनिकों की प्रतिक्रिया तथा फीडबैक क्या है ?
4. उन्होंने चौथा सवाल यह पूछा कि क्या सरकार के ध्यान में कोई शिकायतें आई हैं ?
5. उन्होंने आगे पूछा कि यदि इसका उत्तर हां है तो तत्संबंधी क्या है और इस संबंध में क्या उपचारात्मक उपाय किए गए हैं ?
 ऊपर पूछे गए सभी प्रश्नों के जवाब भारत सरकार की ओर से रक्षा मंत्री माननीय राजनाथ सिंह जी ने लोकसभा में दिया जो कि इस प्रकार से है -
1. पहले प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा भूतपूर्व सैनिक अंशदान स्वास्थ्य योजना (ईसीएचएस) 1 अप्रैल 2003 से शुरू की गई थी।
2. दूसरे प्रश्न के जवाब में उन्होंने कहा लगभग 52,000,00 से भी ज्यादा लोग ईसीएचएस के अंतर्गत अभी तक लाभ प्राप्त कर रहे हैं।
3. एवं 4. तीसरे एवं चौथे प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा  ईसीएचएस लाभार्थियों का संतुष्टि स्तर उच्च है, फिर भी उनसे कुछ शिकायतें प्राप्त हुई हैं जो मुख्य रूप से पॉलीक्लिनिको में दवाइयों की कमी, कुछ क्षेत्रों में पैनल वाले अस्पतालों/ पॉलीक्लिनिकों का अभाव, पैनल में शामिल सेवा अस्पतालों की सेवाओं में कमी और चिकित्सा प्रतिपूर्ति बिलों के भुगतान में विलंब से संबंधित हैं।
5. पांचवें प्रश्न के जवाब में रक्षा मंत्री ने लोकसभा में बताया कि बहुत सारे सुधार इस दिशा में किए जा रहे हैं जो कि इस प्रकार से हैं -
(i) उन्होंने कहा निम्नलिखित उपायों के जरिए स्टाक में कुछ दवाइयों की अनुपलब्धता का निराकरण किया गया हैः
(क)  ईसीएचएस के लिए प्राधिकृत स्थानीय केमिस्ट स्टोर (एएलपी) की सीजीएचएस प्रणाली 2 अगस्त 2017 को अनुमोदित की गई है।
(ख) एएलपी को पैनल में शामिल करने के लिए ग्रामीण, अर्ध शहरी, दूरस्थ क्षेत्रों में स्थित पॉलीक्लिनिको को सक्षम बनाने हेतु स्थानीय केमिस्टों में शामिल करने के लिए दिनांक 25 जून 2018 को सीजीएचएस मानकों में छूट दी गई है।
(ग)  एएलपी प्रणाली के अंतर्गत पॉलीक्लिनिको को स्टाक में ना शामिल दवाइयों को प्राधिकृत स्थानीय केमिस्टों से प्राप्त करने और उन्हें लाभार्थियों को देने की अनुमति दी गई है।
(घ)  उपरोक्त के अतिरिक्त 30 जनवरी 2019 को ईसीएचएस लाभार्थियों को कुछ वित्तीय सीमाओं और स्थितियों के अधीन अधिकतम 15 दिन की अवधि के लिए अनुपलब्ध दवाइयां खरीदने और उसकी प्रतिपूर्ति लेने की अनुमति दी गई है।
(ii) पैनल में शामिल होने की प्रक्रिया पूरे साल खुली रखी जाती है। अस्पताल पैनल में शामिल होने के लिए आवेदन जमा करने हेतु स्वतंत्र होते हैं। इन आवेदनों पर कार्यवाही की जाती है और जो अस्पताल अपेक्षित शर्तें पूरा करते हैं उन्हें पैनल में शामिल किया जाता है।
(iii) ईसीएचएस सदस्यों की मांग के आधार पर और निर्धारित मानदंडों पर नए पॉलीक्लिनिक खोलना एक लगातार चलने वाली प्रक्रिया है जब और जहां सरकार जरूरी समझती है नए पॉलीक्लिनिक खोलकर योजना का विस्तार किया जाता है।
(iv) जब भी पैनल में शामिल अस्पतालों के विरुद्ध सेवाओं में कमी की शिकायत प्राप्त होती है, मामले की जांच की जाती है मामले के सही पाए जाने की स्थिति में नियम के अनुसार उनके विरुद्ध उचित कार्यवाही की जाती है।
(v) नियमानुसार मिलिट्री स्टेशनों में, मिलिट्री अस्पतालों में उपलब्ध अतिरिक्त क्षमता का उपयोग लाभार्थियों को पैनल में शामिल निजी अस्पतालों में भेजे जाने से पहले किए जाने की जरूरत होती है। अतिरिक्त क्षमता उपलब्ध ना होने की स्थिति में सेना अस्पतालों को, मरीजों को पैनल में शामिल निजी अस्पतालों में भेजने का अधिकार प्रदान किया जाता है।
(vi)  भूतपूर्व सैनिकों के प्रतिपूर्ति बिलों (क्लेमों) पर शीघ्र कार्यवाही करने और उनका भुगतान करने को सुनिश्चित करने के लिए ईसीएचएस अधिकारियों ( क्षेत्रीय निदेशक/ उप प्रबंध निदेशक और प्रबंध निदेशक की वित्तीय शक्तियों को दिनांक 9 जुलाई 2019 से रुपए ₹3 लाख, ₹5 लाख एवं ₹ 10 लाख से बढ़ाकर क्रमश रुपए ₹4 लाख, ₹ 8 लाख और ₹ 15 लाख कर दिया गया है।
इस प्रकार से माननीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भूतपूर्व सैनिकों से जुड़ी हुई ईसीएचएस सेवा के संबंध में जो समस्याएं आ रही थी उनके समाधान ओं के बारे में लोकसभा में पूछे गए प्रश्न का उत्तर दिया। यदि आप लोग इस तरह की जानकारी वाले वीडियो देखना चाहते हैं तो Sahi Jankari यूट्यूब चैनल पर पधार करके वीडियो देख सकते हैं।.यहां पर सर्विस मैन, एक्स सर्विसमैन, गवर्नमेंट एम्पलाई, रोजगार संबंधी सूचना, सीएसडी कैंटीन से संबंधित सूचनाएं, सीएसडी कैंटीन के कारों की रेट लिस्ट, सीएसडी कैंटीन में उपलब्ध सामानों से जुड़ी हुई जानकारियां तथा सामान्य नागरिकों से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारियां वीडियो के माध्यम से उपलब्ध कराई जाती हैं।

Post a Comment

0 Comments